Water Lilies

भारत-यूके जलकेंद्र (IUKWC) का लक्ष्य भारत और यूके जल शोधकर्ताओं, जल नीति निर्धारकों एवं जल कारोबारियों के बीच दीर्घकालीन साझेदारी के तहत और बातचीत हेतु मंच स्थापित करने के क्रम में एन.ई.आर.सी - एम.ओ.ई.एस के बीच जल सुरक्षा अनुसंधान पर सहकार्यता और सहयोग को बढ़ावा देना है।

समाचार

tree where the leaves are different forms of communication

आईयूकेडब्ल्यूसी ओपन नेटवर्क, जल सुरक्षा में शोध संबंधी हितों के साथ ब्रिटेन या भारत में स्थित व्यक्तियों और संगठनों के ऑनलाइन, खोज योग्य डेटाबेस है।यह भारत-यूके जल केंद्र द्वारा संचार प्रसारित करने,

यह नई प्रतियोगिता जैव प्रौद्योगिकी विभाग के साथ साझेदारी में न्यूटन-भाभा फंड कार्यक्रम, इनोवेट यूके और रिसर्च काउंसिल (जैव प्रौद्योगिकी और जैव विज्ञान अनुसंधान परिषद और इंजीनियरिंग और भौतिक विज्ञान अनुसंधान परिषद) के भाग के रूप में चल रही है, जो भारत में औद्योगिक अपशिष्ट को कम करने के लिए समाधान हेतु प्रस्ताव आमंत्रित कर रही है।

परियोजनाएं

chanselogo

भोजन, ऊर्जा एवं परितंत्र सेवा (SWR) कार्यक्रम के लिए जल संसाधनों के प्रतिपालन के अंतर्गत एक एन.ई.आर.सी. / एम.ओ.ई.एस. निधिबद्ध परियोजना जो भारत-गांगेय मैदानों (IGP) के मानवीय गतिविधियों एवं जल-मौसम विज्ञानी प्रणाली के बीच प्रभावी परस्परक्रियाओं एवं प्रतिपुष्टियों के मानचित्रण एवं प्रमात्रीकरण को उन्नत बनाने का लक्ष्य रखता है।

भोजन, ऊर्जा एवं परितंत्र सेवाएं (SWR) कार्यक्रम के लिए जल संसाधनों के प्रतिपालन के अधीन  एक एन.ई.आर.सी./पृ.वि. मंत्रालय निधिबद्ध परियोजना जो अन्वेषण करती है कि कैसे हिमालयी नदी तंत्र में जल का भंडारण और प्रगमन होता है।

भोजन, ऊर्जा एवं परितंत्र सेवाएं (SWR) कार्यक्रम के लिए जल संसाध्नों के प्रतिपालन के अधीन एक एन.ई.आर.सी./पृ.वि.मंत्रालय निधि बद्ध परियोजना जो अन्वेषण करता है कि कैसे भूमि-उपयोग, भू-आवरण, सिंचाई प्रक्रियाओं में बदलाव एवं लघु-मापी जल प्रबंधन में व्यवधान जलीय प्रक्रियाओं को स्थानीय तौर पर प्रभावित करते हैं।

प्रकाशन

आईयूकेडब्ल्यूसी द्वारा दिसंबर 2016 में आयोजित एक कार्यशाला से गतिविधि रिपोर्ट

सेंटर फॉर इकोलॉजी एंड हाइड्रोलॉजी द्वारा दिसंबर 2015 में आयोजित एक कार्यशाला की रिपोर्ट